वीडियो: वन अधिकारी को दलितों नें गंदी तरह पीटा, उल्टा 15 और पे ठोका फ़र्जी SC/ST एक्ट

तेलंगाना: तेलंगाना में एससी एसटी एक्ट का बेहद ही खतरनाक मामला सामने आया है जिसने एक बार फिर इसके बेजा इस्तेमाल पर प्रश्न चिन्ह खड़े कर दिए है।

दरअसल तेलंगाना स्थित सरसला में फारेस्ट अफसर अनीता अपने अन्य वन विभाग के कर्मचारियों के साथ वन की जमीन पर पेड लगाने जा रही थी तभी अचानक रास्ते में आदिवासियों ने उनपर लाठी डंडो से बुरी तरह हमला कर दिया जिसकी वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है।

वन विभाग की वर्दी में कई अन्य कर्मियों की मौजूदगी होने के बावजूद उनपर इस प्रकार का जानलेवा हमला हुआ जिसमे अनीता बुरी तरह घायल हो गई।

दलितों (आदिवासियों) को भड़काने का आरोप तेलंगाना की टीआरएस सरकार के एक नेता कोनेरू कृष्णा राव पर लगाया जा रहा है जो उस समय वहा उपस्थित थे।

वहीं दलितों द्वारा पीटे जाने के बाद फारेस्ट अफसर अनीता व अन्य 15 कर्मचारियों पर नायिनी सरोजा ने एससी एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराया है जिसके बाद एससी एसटी एक्ट पर प्रश्न चिन्ह खड़े हो रहे है।

वही डीएसपी सत्यनारायण के मुताबिक “दलित महिला के बयान के मुताबिक हमने वन विभाग अधिकारी व अन्य 15 कर्मचारियों के खिलाफ एससी एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है व उचित जांच के बाद कार्यवाई की जाएगी”।

वन विभाग अफसर पर एससी एसटी एक्ट लगने के बाद पूरा वन विभाग एसोसिएशन अनीता के समर्थन में उतर चूका है जिसको ट्विटर फेसबुक पर लोगो का समर्थन भी प्राप्त हो रहा है।

वही ट्वीटर पत्रकार अंशुल सक्सेना ने ट्वीट कर एससी एसटी एक्ट पर ही प्रश्न चिन्ह खड़े करते हुए पूछा कि “उन्हें काफी अचम्भा होता है की आखिर सरकार ने क्यों सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को पलट दिया था”।

+ posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous Story

गाड़ी में जाति लिखने से चालान कटा, जाति प्रमाणपत्र में लिखने से नौकरी कटेगी क्या ? यूजर

Next Story

जनसंख्या दिवस: सुप्रीमकोर्ट का आदेश- बढ़ती आबादी टाइम बम जैसे, लागू हो 2 बच्चों की नीति…?

Latest from देश विदेश - क्राइम

हैवानियत: बेटी के साथ कोल्ड ड्रिंक पीने पर ब्राह्मण छात्र को किया किडनैप, बेल्ट से मारा, पिलास से होंठ दबाये, ICU में भर्ती

कानपुर: उत्तर प्रदेश में प्रशासन के तमाम दावों के बावजूद अपराधियों के हौसलें बुलंद हैं। अब…